उत्तर प्रदेशः फर्ज़ी फेसबुक प्रोफाइल से माहौल बिगाडने की कोशिश विनीत बना असद सिददीकी

उत्तर प्रदेशः फर्ज़ी फेसबुक प्रोफाइल से माहौल बिगाडने की कोशिश विनीत बना असद सिददीकी

असद सिद्दीकी के नाम से फर्जी प्रोफाइल बनाकर  योगी आदित्यनाथ के खिलाफ अपमानजनक पोस्ट करने वाला विनीत सिंह गिरफ्तार

 

उत्तर प्रदेश के आगरा के रहने वाले विनीत सिंह ने नफरत फैलाने के इरादे से फेसबुक पर असद सिद्दीकी के नाम से फर्जी अकाउंट बनाया और उर्दू भाषा में योगी आदित्यनाथ के खिलाफ कई अपमानजनक पोस्ट किये। अब विनीत सिंह पुलिस की गिरफ्त में है।
आगरा पुलिस की साइबर सेल ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ फर्जी नाम से अकाउंट बनाकर अपमानजनक टिप्पणी करने वाले एक शख्स को गिरफ्तार किया है। दिलचस्प बात ये है कि गिरफ्तार शख्स का नाम विनीत प्रताप सिंह है और उसने असद सिद्दीकी के नाम से फर्जी प्रोफाइल बनाई हुई थीय़ यही नहीं विनीत सिंह योगी आदित्यनाथ के खिलाफ ना सिर्फ फर्जी प्रोफाइल से अपमानजनक बातें कर रहा था बल्कि इसके लिए उर्दू भाषा का इस्तेमाल कर रहा था। मिली जानकारी के अनुसार विनीत पत्रकारिता का छात्र है और काफी दिनों से फेसबुक पर योगी आदित्यनाथ के खिलाफ पोस्ट कर रहा था। जिस पोस्ट के लिए उसके खिलाफ मामला दर्ज किया गया है, वह उसने कुछ दिनों पहले फेसबुक पर किया था। पुलिस ने इस मामले के खुलासे के बाद उसे उसके घर से गिरफ्तार कर लिया है और उसके विरुद्ध आईटी कानून की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। विनीत ने 11 जुलाई को असद सिद्दीकी के नाम से फर्जी अकाउंट बनाया था और उसके जरिये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ अपमानजनक बातें और आपत्तिजनक तस्वीरें पोस्ट की थी। असद की प्रोफाइल में उसका घर लखनऊ बताया गया था। इस तस्वीर पर दिल्ली, कानपुर, आगरा और इटावा के कई लोगों ने कमेंट किये थे। इस वायरल हो रही तस्वीर का संज्ञान लेते हुए एसएसपी अमित पाठक ने रकाबगंज पुलिस को एफआईआर दर्ज करने का आदेश देते हुए साइबर सेल को मामले की जांच करने को कहा था।

इस मामले की जांच करने वाले अधिकारी ने बताया है कि विनीत एक अच्छे परिवार से संबंध रखता है। पुलिस अधिकारी के मुताबिक, विनीत ने नफरत फैलाने की नीयत से सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल किया। उसने फेसबुक पर उर्दू भाषा का उपयोग इसलिए किया ताकि फेसबुक इस्तेमाल करने वालों और पुलिस को गुमराह किया जा सके।पुलिस के अनुसार दर्जनों स्थानीय निवासियों ने इस संबंध में शिकायत की थी जिसके बाद एफआईआर दर्ज की गई। पुलिस ने विनीत सिंह का मोबाईल जब्त कर लिया है और फोन का पुराना रिकॉर्ड निकाला जा रहा है। विनीत के साथ इस मामले में एक दूसरा शख्स भी शामिल था, जो अभी तक फरार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *