रहमानिया वक्फ कमेटी में भरष्टाचार को लेकर हुआ ज़ोरदार हंगामा। जांच के आदेश, रिकॉर्ड तलब ।

रहमानिया वक्फ कमेटी में भरष्टाचार को लेकर हुआ ज़ोरदार हंगामा। जांच के आदेश, रिकॉर्ड तलब ।

गोल्डन टाइम्स संवाददाता
रुड़की –   वक़्फ़ कमेटियों में भरष्टाचार के विरोध में लोगों का गुस्सा थमने का नाम नहीं ले रहा है ।रहमानिया मदरसे में कमेटी के भ्रष्टाचार को लेकर बुलाई गई बैठक में जमकर हंगामा हुआ । हंगामा इतना जबरदस्त था कि वक़्फ़ रहमानिया के  चैयरमैन डॉ इरशाद मसूद को भागकर अपनी जान बचानी पड़ी।हंगामे की सूचना मिलते ही कमेटी के  मुख्य कार्यपालक अधिकारी  तंज़ीम अली मौके पर पहुंचे और मामले को शांत कराने की भरपूर कोशिश की लेकिन बाहर से आए लोगो  मे इतना गुस्सा था कि उन्होंने कार्यपालक अधिकारी की भी नहीं सुनी और कमेटी के कार्यालय में तालाबंदी कर दी फिलहाल तंज़ीम अली ने कमेटी की जांच करते हुए तमाम रिकॉर्ड तलब किए हैं।शहर के गणमान्य लोगों का आरोप था  कमेटी में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार व्याप्त है समिति ने वक़्फ़ की दुकानों में मोटी रकम लेकर हेराफेरी की है ओर अपने रिश्तेदारों को दुकाने भी आवंटित की हैं, हालांकि जो स्थानीय दुकानदारों से  किराया वसूला जा रहा है उसमें भी हेराफेरी की भारी शिकायतें हैं,  जिससे मुस्लिम समाज मे भारी रोष व्याप्त है । वहीं कार्यपालक अधिकारी तंज़ीम अली ने कहा कि समिति की जांच के आदेश दे दिए गए है, समिति ने आज तक भी अपने कोई रिकॉर्ड उनको उपलब्ध नही कराये है जिसके सम्बन्ध में आला अधिकारियों को अवगत करा दिया गया है। तंज़ीम अली ने कहा कि पूरी कमेटी के रिकॉर्ड तलब किए गए हैं।ना देने पर कमेटी के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी।
गौरतलब है की रुड़की में वक़्फ़ सम्पत्तियों पर बड़े पैमाने पर अवैध कब्ज़े हैं , रहमानिया मदरसे के कमिटी मनमाने तरीके से वक़्फ़ की बेशकीमती सम्पत्तियों को खुर्द बुर्द करने में जुटी है। दुकानों से लेकर, मुसाफिरखाने , स्कूल ओर आवासों में बड़े पैमाने पर धांधली है जिसको लेकर शहर के गणमान्य लोग बेहद नाराज़ हैं। 9 साल से कमेटी की कोई बैठक नही हुई, वही आज अचानक शहर के कुछ गणमान्य लोग एवं समिति के कुछ सदस्य अचानक कमेटी के दफ्तर पहुचे जहां पर उन्होंने कोमेटी के चैयरमेन डॉ इरशाद मसूद से कमेटी के रेकोइड मांगने शुरू किये तो इरशाद मसूद ने कोई सन्तुष्ट जवाब न देकर कमेटी के सदस्यों को बाहर जाने को कहा , जिसपर लोगो भड़क गए ओर उन्होंने इरशाद मसूद पर तानाशाही का आरोप लगाया इतना ही नही स्थानीय लोगों ने चैयरमेन के कार्यालय में ज़ोरदार हंगामा करते हुए कमेटी के सचिव ज़ाकिर त्यागी को मौके पर बुलाने के लिए अड़ गए लेकिन इरशाद मसूद आज पूरी तरह से बेबस नज़र आये , हताश होकर उल्टे पैरों कमेटी के दफ्तर से वापस लौट गए, कमेटी के लोगों ने कार्यपालक अधिकारी तंज़ीम अली के सामने ही चैयरमेन के कमरे में तालाबंदी करदी।  इसी दैरान सूचना मिलते ही अनन फानन में कार्यपालक अधिकारी तंज़ीम अली ने मामले की गंभीरता को देखते हुए रुड़की वक़्फ़ की तमाम कमेटी के रिकॉर्ड तलब किये ओर पूरी कमेटी के जांच के आदेश दे दिए। तंज़ीम अली ही पूरी बारीकी के साथ पूरी कमेटी के जांच करेंगे जिसकी जानकारी उन्होंने फैक्स के माध्यम से शासन के अधिकारियों तक पहुच दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *