Breaking
Sat. Jun 15th, 2024

AU Small Finance Bank • Finance

By goldentimesindia.com Oct30,2023 #News

“फिनकेयर स्मॉल फाइनेंस बैंक का रोमांचक विलय”

आईटी जॉब मार्केट को झटका, AU Small Finance Bank  ने विलय की घोषणा की:

घटनाओं के एक आश्चर्यजनक मोड़ में, भारतीय आईटी उद्योग को एक महत्वपूर्ण झटके का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि 25 वर्षों में पहली बार आईटी कर्मचारियों की संख्या में गिरावट का अनुभव हो रहा है। इस बीच, निजी कंपनियां शेयर जारी करने के तरीके में बदलाव के दौर से गुजर रही हैं, और एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक और फिनकेयर स्मॉल फाइनेंस बैंक ने अपनी विलय योजनाओं का खुलासा किया है। म्यूचुअल फंड की दुनिया में, हालिया कर सुधारों के कारण नई डेट फंड योजनाओं की लॉन्चिंग में मंदी आई है।

AU Small Finance Bank

भारतीय आईटी उद्योग में 25 वर्षों में पहली बार कर्मचारियों की संख्या में गिरावट देखी गई

भारतीय आईटी क्षेत्र, जिसे लंबे समय से रोजगार और नवाचार का पावरहाउस माना जाता है, वर्तमान में एक अप्रत्याशित चुनौती का सामना कर रहा है। भारत की शीर्ष 10 आईटी कंपनियों में से नौ, जो सामूहिक रूप से 20 लाख से अधिक इंजीनियरों को रोजगार देती हैं, ने पिछले छह महीनों में अपने कार्यबल में कमी देखी है, जिससे 25 वर्षों में पहली बार कर्मचारियों की संख्या में गिरावट आई है। इस विकास को कई कारकों के लिए जिम्मेदार ठहराया जा सकता है, जिसमें कृत्रिम बुद्धिमत्ता (एआई) का प्रभाव और ग्राहकों द्वारा कम खर्च शामिल है।

मिंट के आंकड़ों से पता चलता है कि 30 सितंबर तक छह महीनों के दौरान भारतीय आईटी क्षेत्र में कर्मचारियों की संख्या 51,000 तक गिर गई, जो 2.13 मिलियन से 2.06 मिलियन हो गई। ये कंपनियां अब एआई-संचालित भविष्य को अपनाने की जटिलताओं से निपटने के साथ-साथ प्रतिस्पर्धा भी कर रही हैं। अपने ग्राहकों से बजट में कटौती के साथ।

शेयरों का डीमटेरियलाइजेशन: पारदर्शिता की ओर एक कदम

कॉर्पोरेट क्षेत्र में पारदर्शिता बढ़ाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम में, निजी कंपनियों को अब विशेष रूप से डीमैटरियलाइज्ड (डीमैट) रूप में शेयर जारी करने की आवश्यकता है। इस नियम का अपवाद केवल छोटी और सरकारी कंपनियों पर लागू होता है। जिन निजी कंपनियों के पास भौतिक शेयर हैं, उनके पास इस निर्देश का पालन करने के लिए सितंबर 2024 तक का समय है।

इस विनियमन का उद्देश्य बेनामी लेनदेन और शेयरों को पूर्वव्यापी जारी करने जैसी धोखाधड़ी प्रथाओं पर अंकुश लगाना है, जो अन्य शेयरधारकों को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसके अलावा, इन कंपनियों के भीतर शेयरों का कोई भी हस्तांतरण डीमटेरियलाइज्ड रूप में होना चाहिए, जिससे प्रक्रिया सुव्यवस्थित होगी और धोखाधड़ी गतिविधियों की संभावना कम होगी।

एयू और फिनकेयर बैंकों ने विलय योजना की घोषणा की

एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक और फिनकेयर स्मॉल फाइनेंस बैंक ने विलय की अपनी योजना की घोषणा करके सुर्खियां बटोरी हैं। फिनकेयर स्मॉल फाइनेंस बैंक के शेयरधारकों को फिनकेयर के प्रत्येक 2000 शेयरों के लिए एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक के 579 शेयर प्राप्त होंगे। यह विलय 1 फरवरी, 2024 से प्रभावी होने वाला है।

हालाँकि, विलय विनियामक अनुमोदन के अधीन है और फिनकेयर के प्रमोटरों द्वारा 700 करोड़ रुपये के निवेश की आवश्यकता है। इस विलय के हिस्से के रूप में, फिनकेयर के प्रबंध निदेशक राजीव यादव, एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक में उप प्रबंध निदेशक की भूमिका निभाने के लिए तैयार हैं।

कर सुधारों के बाद नए म्यूचुअल फंड लॉन्च में मंदी

कराधान में हालिया बदलावों के बाद भारत में म्यूचुअल फंड उद्योग ने नई ऋण फंड योजनाओं के लॉन्च में उल्लेखनीय मंदी का अनुभव किया है। वित्तीय वर्ष 2024 की पहली छमाही के दौरान, केवल 73 नई योजनाएँ लॉन्च की गईं, जो पिछले वित्तीय वर्ष की इसी अवधि के दौरान शुरू की गई 183 योजनाओं की तुलना में महत्वपूर्ण कमी है।

अतीत में, अधिकांश नए फंड ऑफर (एनएफओ) डेट फंड सेगमेंट में थे। हालाँकि, परिदृश्य बदल गया है, और अधिकांश नए लॉन्च अब इक्विटी और हाइब्रिड फंड पर केंद्रित हैं। विशेष रूप से, हाइब्रिड सेगमेंट में फंड हाउसों को इक्विटी और डेट दोनों परिसंपत्तियों का संतुलन 40 प्रतिशत पर बनाए रखने की आवश्यकता होती है।

निष्कर्षतः

भारतीय आईटी क्षेत्र को 25 वर्षों की लगातार वृद्धि के बाद कर्मचारियों की संख्या में गिरावट के साथ अभूतपूर्व चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। कॉरपोरेट सेक्टर शेयरों के डीमैटरियलाइजेशन के साथ पारदर्शिता बढ़ाने की ओर बढ़ रहा है, जबकि एयू और फिनकेयर बैंक विनियामक अनुमोदन के अधीन विलय के लिए तैयारी कर रहे हैं। इसके अतिरिक्त, म्यूचुअल फंड उद्योग की कर संरचना में बदलाव के कारण फंड लॉन्च में इक्विटी और हाइब्रिड सेगमेंट की ओर बदलाव आया है, जो निवेश परिदृश्य में एक महत्वपूर्ण परिवर्तन का प्रतीक है।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *