Breaking
Sat. Jun 15th, 2024

Karni Sena Chief Sukhdev Singh Gogamedi की जयपुर आवास में गोली मारकर हत्या

घटनाओं के एक चौंकाने वाले मोड़ में, राष्ट्रीय राजपूत Karni Sena Chief Sukhdev Singh Gogamedi  की उनके जयपुर आवास में गोली मारकर हत्या कर दी गई, जिससे एक रहस्य का खुलासा हुआ जिसे पुलिस अब सुलझाने के लिए अथक प्रयास कर रही है।

 अभियुक्त की पहचान करना: पहेली सुलझाना

जांच एक महत्वपूर्ण कदम आगे बढ़ाती है क्योंकि पुलिस हत्या में दो संदिग्धों की पहचान करती है – रोहित राठौड़ और नितिन फौजी। यह घटनाक्रम इस जघन्य अपराध के पीछे के संभावित उद्देश्यों पर प्रकाश डालता है।

 धोखे पर बैठक: घातक मुठभेड़

आरोपी नवीन शेखावत, रोहित राठौड़ और नितिन फौजी ने शादी का कार्ड देने के बहाने करणी सेना प्रमुख से मिलकर बड़ी चालाकी से अपने खौफनाक इरादे छुपाए थे. एक मासूम सी मुलाकात घातक साबित हुई.

 अपराध की योजना बनाना: किराये की कारें और शराब की बोतलें

चौंकाने वाली जानकारी का खुलासा करते हुए नवीन शेखावत ने हत्या से तीन दिन पहले 5,000 रुपये प्रतिदिन के हिसाब से एक एसयूवी किराए पर ली। किराए का वाहन, जो बाद में गोगामेडी के आवास पर मिला, उसमें महत्वपूर्ण सबूत थे – शराब की खाली बोतलें। एक भयावह योजना चल रही थी.

 संभावित मकसद का खुलासा: भूमि विवाद?

जांच एक संभावित मकसद की ओर घूम रही है – एक भूमि विवाद जिसमें दिवंगत करणी सेना प्रमुख और एक निश्चित रोहित गोदारा शामिल हैं। क्या इस दुखद घटना के पीछे संपत्ति का झगड़ा हो सकता है?

 गोदारा कनेक्शन: गैंगस्टर का दावा और पिछला प्रतिशोध

कुख्यात गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई गिरोह के सदस्य रोहित गोदारा ने हत्या की जिम्मेदारी ली है पुलिस संभावित प्रतिशोध के जाल को उजागर करने के लिए प्रॉपर्टी डीलर विजेंद्र सिंह की हत्या सहित पिछले प्रतिशोधों की जांच कर रही है।

 राजस्थान बंद: दुख की लहर और न्याय की मांग

दुखद घटना के जवाब में, श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना और अन्य सामुदायिक संगठनों ने राजस्थान में राज्यव्यापी बंद का आह्वान किया है। दुखी समुदाय न्याय की तलाश तेज करते हुए हत्या की न्यायिक जांच की मांग कर रहा है।

 सीसीटीवी फुटेज से खुलासा: हमले का खुलासा

एक भयावह सीसीटीवी फुटेज में उस खौफनाक पल का पता चलता है जब हमलावरों ने गोगामेडी पर अंधाधुंध गोलीबारी करते हुए अराजकता फैला दी। समुदाय उस क्रूर कृत्य का गवाह है जिसने उनके नेता की जान ले ली, जिससे न्याय की गुहार लगाई गई।

 हिंसा में वृद्धि: सुरक्षा गार्ड घायल

गोगामेड़ी की मौत से हिंसा ख़त्म नहीं होती. हमलावरों के साथ तीखी झड़प में उनका एक सुरक्षा गार्ड गोली लगने से घायल हो गया। श्याम नगर में एक बार शांतिपूर्ण निवास एक अपराध स्थल बन गया है, और पुलिस घटनाओं को एक साथ जोड़ने के लिए हर पहलू का पता लगा रही है।

जैसे-जैसे जांच सामने आ रही है, शहर सदमे और दुख से जूझ रहा है और इस दुखद मौत से जुड़े सवालों के जवाब का बेसब्री से इंतजार कर रहा है। सुखदेव सिंह गोगामेदी की विरासत अधर में लटकी हुई है, उन्होंने अधिकारियों से अपराधियों को न्याय के कटघरे में लाने और दुखी समुदाय में शांति बहाल करने का आग्रह किया है।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *